Home Sahara India News सहारा इंडिया एजेंट ने की आत्महत्या छोड़ा सुसाइड नोट आत्महत्या के लिए...

सहारा इंडिया एजेंट ने की आत्महत्या छोड़ा सुसाइड नोट आत्महत्या के लिए जिम्मेदार सहारा

3
97
सहारा इंडिया एजेंट ने की आत्महत्या छोड़ा सुसाइड नोट आत्महत्या के लिए जिम्मेदार सहारा

ग्वालियर जिले के डबरा में एक हृदय विदारक घटना सामने आई है सालों से सहारा इंडिया कंपनी में काम करने वाले एक एजेंट भूपेंद्र जैन ने 5 फरवरी को ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली है बताया जा रहा है कि वे धार्मिक स्थान पर दर्शन करने के लिए गए वहां दुर्घटना बस उनकी मौत हो गई लेकिन अब एक नया खुलासा हुआ है जो भूपेंद्र जैन के पास मिले सुसाइड नोट के में सामने आया है सुसाइड नोट में भूपेंद्र जैन ने अपनी मौत के लिए सिर्फ और सिर्फ सहारा इंडिया को जिम्मेदार ठहराया है पुलिस मामले की जांच कर रही हैं |

सहारा इंडिया के एजेंट्स व जमाकर्ताओं ने किया कोतवाली का घेराव


भूपेंद्र ने छोड़े गए सुसाइड नोट में लिखा है कि सहारा इंडिया के कारण आए दिन उनको निवेशक परेशान करते हैं अपनी गाढ़ी कमाई उन्होंने भूपेंद्र जैन के माध्यम से सहारा कंपनी में जमा कराई थी लेकिन अब कंपनी भुगतान नहीं कर रही हैं ऊपर से निवेशक भुगतान के लिए दबाव डालते हैं लेकिन कंपनी कोर्ट के आदेश के बाद भी भुगतान नहीं कर रही हैं भूपेंद्र ने अपने पीछे पत्नी और एक बेटा एक बेटी छोड़ गए हैं भूपेंद्र जैन ने इस पत्र में अपने सभी परिजनों को संबोधित किया है और बताए हैं कि किस तरह से सहारा कंपनी ने भुगतान नहीं कर रही थी और भुगतान के लिए लंबा चौड़ा कमीशन भी मांग रही हैं |

भूपेंद्र जैन का कहना है कि समय पर भुगतान कर देते तो उन किसी भी तरह का कर्जा उनके ऊपर नहीं होता आत्महत्या की जिम्मेदार सिर्फ और सिर्फ सहारा इंडिया है
इस मामले की जांच कर रही पुलिस का कहना है कि भूपेंद्र जैन के परिजनों को सुसाइड नोट उपलब्ध कराया गया है जिसमें उन्होंने अपने आत्महत्या के लिए सहारा इंडिया को जिम्मेदार ठहराया है सहारा इंडिया भुगतान नहीं कर रही थी और निवेशक उन्हें बहुत ज्यादा परेशान कर रहे थे पुलिस अब इस मामले की जांच की बात कर रही हैं

3 COMMENTS

  1. सहारा इंडिया कंपनी और सभी के झगड़े का हवाला देकर कंपनी के अधिकारी एजेंटों को यह कह कर टाल देते हैं कि अभी सुप्रीम कोर्ट में और सेबी में विवाद के कारण पैसा नहीं दे पा रहे हैं पर वह एजेंट क्या करें जिन्होंने निवेश को से पैसा लिया उन पर भारी दबाव है एजेंट मानसिक तनाव में परेशान है उनका काम धंधा छोड़ गया है और ऊपर से निवेशक उनको कहते हैं हमने पैसा आपको जमा कराया कंपनी को हम नहीं जानते हमने तो आपका विश्वास करके पैसे जमा कराएं अब हमारा समय हो गया आप हमारे को दो तो इस स्थिति में एजेंट क्या करें कृपया सुप्रीम कोर्ट सहारा इंडिया कंपनी सेबी सरकार सभी को इस ज्वलंत समस्या पर ध्यान देना चाहिए

  2. Shara india pariwar me adhikansh paisa garib logo ka fhasa huaa hai is matter par sarkar or sebi ko samjhana chahiye ki garib logo ka paisa dilwale but sarkar or sebi nahi chahati hai ki garib logo ka paisa mile

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here