Home PACL Latest News in Hindi 2020 Pacl Refund news सभी पर्ल्स निवेशकों के लिए जरुरी सुचना

Pacl Refund news सभी पर्ल्स निवेशकों के लिए जरुरी सुचना

Pacl Refund news

Pacl Refund news Pacl Letest News 

दोस्तों सभी Pacl निवेशकों को नमस्कार अमित गर्ग 4th रैंक(pacl) पूर्व जिलाध्यक्ष AISO फ़िरोज़ाबाद पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष,,उत्तर प्रदेश AISO,, 
पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता,,भारतीय निवेशक सुरक्षा मंच पूर्व राष्ट्रीय सचिव,,भारतीय लोक सेवा दल Pacl Refund news
सभी Pacl के ज़िम्मेदार एजेंट साथी जागरूक निवेशक,,कर्मठ पदाधिकारी (समस्त संगठन,पार्टी)

Pacl मामला एक नज़र में
1) पर्ल्स का भुगतान जनवरी 2014 में 6 माह पूर्व से ही देरी से हो रहा था।
2) क्या किसी भी सीनियर ने इस पर मैनेजमेंट से आपत्ति जताई।
3) 22 अगस्त को कम्पनी के कार्य पर प्रतिबंध लगने के बाद भी रिनुअल जमा कराते रहे लगभग 18 महीने तक( लगभग जनवरी 2016)उस पैसे में बहुत से सीनियरों ने घोटाला किया,,ब्रांच मैनेजरों औऱ स्टाफ़ के साथ मिलकर
3) AISO का गठन 2015 में हुआ,,तब भी पूरे देश में ब्रांच खुल रहे थे कभी AISO संगठन मैनेजमेंट से नहीं लड़ा क्यों?
4) 2 फरवरी 2016 के निर्णय के बाद 6 महीने के बाद जंतर मंतर पर धरना दिया गया जिसमें सभी मौजूद थे पृथ्वी राज यादव,,सुनंदा कदम सरदार महेन्द्रपाल दानगढ़ जी
5) 2017 में AISO से सरदार महेन्द्रपाल जी अलग कर दिये गये कारण( अज्ञात)
6) 2018 में क़ानूनी लड़ाई की दुहाई देने वाले,,,संगठन की अध्यक्षा 3 दिन दिल्ली में अन्ना हज़ारे के आंदोलन में रहीं
7) क़ानून की बात करने और एक ही रास्ते पर चलने वालों ने सभी का पैसा ख़र्च करवाकर मुम्बई सेबी हेड ऑफिस पर धरने के लिए बुलाया,,,जिसमें लगभग सभी आंदोलनकारी मौजूद थे
8) 49100 करोड़ का प्रपोज़ल ,,शायद सभी भूल गये जो कि बड़ी कम्पनियों से मांगा गया था,,,,लेक़िन क़ानून वालों की कौन सी कम्पनी चल रही थी जो बीच मे टांग अड़ाई,,, औऱ आज तक कोई ज़बाब नहीं।
9) AISO में पृथ्वी राज चौहान के बाद गद्दी सम्भाली जयपुर के CB यादव ने कांग्रेस के कारण औऱ मीडिया के कारण अपनी पहचान बना ली लेक़िन फ़िर भी कोई लाभ न मिल पाया नया संविधान भी AISO का लिख दिया
10) CB यादव जी पतली गली से निकल लिए आगरा वाले जाट भी निकल लिये चुपचाप AISO की गद्दी दे दी छत्तीसगढ़ के देवांगन जी मनमोहन सिंह बना दिया गया
11) पंजाब से फ़िर से मुद्दे को लेकर सरदार जी ने राजनीति का मोर्चा सम्भालते हुए पार्टी बना ली,,,सभी ने फ़िर से इस रास्ते को भी चुनकर देख लिया लेक़िन नतीजा 0 रहा।
12) 3 सालों से ज़ीरो चेंनल पर्दे के पीछे से सभी को गालियां देकर कभी आतंकवादी बनाकर कभी RTI से कभी ठोंक पीट से पर्ल्स के मुद्दे को उठाये हुए है सभी के अपने फंडे हैं कोई बात नहीं।
13) सुनंदा माता के लोग मैनेजमेंट के साथ सुप्रीम कोर्ट जाते हैं उनके साथ मीटिंग करते हैं
14) आख़िरी में फ़रवरी 2020 में दिल्ली में मैनेजमेंट के साथ सुनंदा कदम पृथ्वीराज यादव,,सरदार महेन्द्रपाल सिंह दानगढ़ जी के साथ बन्द कमरे में गोपनीय तरीके से मीटिंग कराई गई उसके बाद सेबी को दिए मेमोरेंडम पर इंसाफ़ की आवाज,( भारतीय लोकसेवा दल), AISO जनलोक प्रतिष्ठान की मोहर लगाई गई
विशेष नोट: दिल्ली की मीटिंग में भारतीय लोक सेवा दल के किसी भी राष्ट्रीय पदाधिकारी की जानकारी के बिना केवल राष्ट्रीय अध्यक्ष जी द्वारा की गयी।Pacl Refund news
निष्कर्ष—- 2014 से मार्च 2020
1) आज तक कभी भी सेबी ने पूर्ण जिम्मेदारी नहीं ली।।
2)आज तक लोढा कमेटी सामने नहीं आयी।।
3)5 करोड़ 85 लाख निवेशकों को भुगतान कब तक मिलेगा या मिल पायेगा पता नहीं
4) आख़िर पर्ल्स की इतनी सम्पत्ति कहाँ गयी,,,,
5) ऑफिसों में जमा बॉन्डों का क्या हुआ।
सवाल बहुत हैं,,,ज़बाब एक नहीं
मेरा उद्देश्य किसी की आलोचना करना नहीं,,,जो आज तक देखा उसी आधार पर लिखा गया है किसी को दुःख पहुंचा हो तो क्षमा चाहता हूँ।
मैं सभी के साथ लड़ा केवल अपने मान सम्मान और हक़ के लिये न किसी चंदे का लालच न कोई राजनीतिक महत्वाकांक्षा
किसी भी सवाल पर
टॉप सीनियर ख़ामोश
संगठन ख़ामोश
मैनेजमेंट ख़ामोश
सेबी ख़ामोश
नेता ख़ामोश
तो ज़बाब कौन देगा

आख़िरी कोशिश औऱ आख़िरी हथियार सुप्रीम कोर्ट निवेदन 

आप सभी केवल ह्रदय से एक बार इस जनहित याचिका में सहयोग करें यदि सुप्रीम कोर्ट भी नहीं सुनता तो फ़िर केवल महायुद्ध होगा
अमित गर्ग,,4th रैंक(pacl) पूर्व जिलाध्यक्ष AISO फ़िरोज़ाबाद,,पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष,,उत्तर प्रदेश AISO,,
पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता,,भारतीय निवेशक सुरक्षा मंच पूर्व राष्ट्रीय सचिव भारतीय लोक सेवा दल
एक मात्र उद्देश्य
येन केन प्रकारेण साम दाम दंड भेद पर्ल्स मामले का निराकरण
ब्याज़ सहित पूर्ण भुगतान
एजेंट एकता जिंदाबाद
एक पर्ल्स पीड़ित की कलम से

Pacl Refund news

Pacl Refund Letest News | मोदी जी को रिमाइंडर लेटर भेजा

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here